मोरछड़ी लहरार्इ रे, रसिया ओ सांवरा
तेरी बहुत बड़ी सकलार्इ रे। ओ सांवरा

मोरछड़ी का जादू निराला,
इसको थामे है खाटू वाला ।
नीले चढ़के दौड़ा ये आए,
सारे संकट पल में मिटाए ।
रसिया ओ सांवरा, तेरी बहुत बड़ी सकलार्इ रे
मोरछड़ी …

श्याम बहादुर दर्शन को आए,
ताले मंदिर के बंद पाए ।
मोरछड़ी से तालों को खोला
शीश झुका कर बाबा से बोला ।
रसिया ओ सांवरा, तेरी बहुत बड़ी सकलार्इ रे
मोरछड़ी …

मोरछड़ी की महिमा है भारी
श्याम धणी को लागे ये प्यारी
हर्ष कहे रोतों को हंसाए
हाथों में जब तेरे लहराए
रसिया ओ सांवरा, तेरी बहुत बड़ी सकलार्इ रे
मोरछड़ी …

 

https://i0.wp.com/www.shyamsakha.in/wp-content/uploads/2017/09/MORJHADI-LAHARAI-RE-BY-SHYAMSAKHA.IN_.jpg?fit=1024%2C576https://i0.wp.com/www.shyamsakha.in/wp-content/uploads/2017/09/MORJHADI-LAHARAI-RE-BY-SHYAMSAKHA.IN_.jpg?resize=150%2C150adminBhajan Lyrics#BABA_SHYAM_JI_BHAJAN,#bhajan_lyrics,#shyam baba ke bhajan,#SHYAM_BHAJAN,bhajan,bhajan lyrics in hindiमोरछड़ी लहरार्इ रे, रसिया ओ सांवरा तेरी बहुत बड़ी सकलार्इ रे। ओ सांवरा मोरछड़ी का जादू निराला, इसको थामे है खाटू वाला । नीले चढ़के दौड़ा ये आए, सारे संकट पल में मिटाए । रसिया ओ सांवरा, तेरी बहुत बड़ी सकलार्इ रे मोरछड़ी … श्याम बहादुर दर्शन को आए, ताले मंदिर के बंद पाए । मोरछड़ी से तालों को...Hare Ka Sahara, Baba Syam Hamara