🙏कन्हैया ………
तुम्हे जिद है ना आने की तो……..
हमें जिद है बुलाने की ……..
तुम्हे आता है रूठ जाना तो…….
हमें हुनर है मनाने की …….
ये इश्क की बाज़ी है…….
………..मेरे “कान्हा” ……….
मेरे प्यारे कौन जीता कौन हारा……..
मै जीता तो तुम मेरे ,तुम जीते तो मै तेरा ……

💞💞राधे राधे 💞💞

चांद ने पूछा तेरा श्याम कैसा है ।
मैंने कहा तू बिल्कुल उनके जैसा है ।
हवा बोली क्या वो खिलता कमल है ।
मैंने कहा वह प्रेम का महल है ।
खूश्बू बोली क्या वह फूल है ।
मैंने कहा फूल तो उनके चरणों की धूल है ।
नदी बोली क्या वह जल मे रहते हैं ।
मैंने कहा वह भक्तों के दिलों में रहते है ।
परी बोली क्या वह जादू की छड़ी है ।
मैंने कहा उनकी मुस्कान जादू भरी है ।
सूरज ने पुछा क्या वह देव है ।
मैंने कहा………
देवों से भी बढ़कर वो मेरे श्याम देव हैं….!!

💞💞राधे राधे 💞💞




श्याम की बात कभी राज़ नहीं होती,

वक्त के पहिए में आवाज़ नहीं होती।

जाने किस पल क्या “”बख्श दे बाबा

क्योंकि उनकी मर्जी किसी की मोहताज नहीं होती।।

🏹जय श्री श्याम🏹