श्याम शायरी

हाथों में ले श्याम ध्वजा, मन में ले विश्वास । लो चल चले हम खाटू धाम, अब पूरे होगी हर आस ।।

राधे राधे.....!! हे मेरे श्याम , फ़रियाद तो वहाँ होती है जहाँ ऐतबार न हो मुझे तो यकीन है तुम बिन कहे मेरे दिल की बात जान लेते हो मत…
Continue Reading
श्याम शायरी

नींद छीन रखी है मेरी,तेरी यादों ने ‘श्याम’, गिला तेरी दुरी से करूँ या अपनी चाहत से..!!

मिश्री भी फीकी लगे अब, फीको गुड़ को स्वाद.! " श्याम" से प्रीत हुई जबसे और चखों प्रेम को स्वाद !! जय श्री श्याम भाव भरे हों आँख में आँसू…
Continue Reading
श्याम शायरी

मेरे श्याम… तुम्हें मैं तब छोड़ दूँगा, जब सांसें मुझे छोड़ देंगी…

ज्यूँ दिल मे धड़कन जरूरी होती है जान के लिए सांवरे मुझे जीवन भर तेरा सहारा चाहिए मेरे हर काम के लिए सांसों की माला मेरी जपती जो नाम है…
Continue Reading
श्याम शायरी

अ से अनार,आ से आम। मिलकर बोलो जय श्री श्याम।।

बन कर मेरा साया ....मेरा साथ निभाना "मेरे श्याम " मैं जहाँ - जहाँ जाऊं .......तुम वही - वही आना " मेरे श्याम "| साया तो छोड़ जाता है .....साथ…
Continue Reading
श्याम शायरी

वो शरीर ही किस काम का… जो नाम ना ले श्याम का…

"चूम "लू उस" राह "को जो तेरे "दर" पे लेके जाती है। "टेक "लू" माथा "उस हर "मोड़" को जो तेरे "दर "का "रास्ता" बताती "है "वार" दू अपनी "जिंदगी…
Continue Reading
श्याम शायरी

क्या करेगी जीएसटी, और क्या करेगा वैट। जिसके कारोबार का मालिक है साँवरा सेठ॥

"नयनों से नैन मिलाकर;मोहब्बत का इजहार करूँ। "बन कर ओस की बुँदे;जिन्दगी तेरी गुलजार करूँ। "संवर जाएगी तेरी मेरी जिन्दगी;इश्क के सफर में। "थाम ले तू हाथ मेरा;मैं तेरे हर…
Continue Reading
श्याम शायरी

मत लेना साँवरे परीक्षा हमारी, बिन तेरे क्या है हस्ती हमारी, साथ ऐसा मुझे दे दे मेरे साँवरे, सजी रहे सदा बगिया हमारी

राधे कृष्ण इसे धीमे – धीमे बोलिए रा…ह…दे…कृष्ण जिसका मतलब हे ईश्वर ! मुझे वो दिशा दिखा जिस से मैं सही राह पर चल सकूँ किस्मत पर जोर कहां किसी…
Continue Reading
श्याम शायरी

मत लेना साँवरे परीक्षा हमारी, बिन तेरे क्या है हस्ती हमारी साथ ऐसा मुझे दे दे मेरे साँवरे सजी रहे सदा बगिया हमारी

ये दुनिया जिस ढाई अक्षर के , नाम मे उलझी है..! लोग उसे प्यार कहते है.... और हम जिस ढाई अक्षर मे उलझें है , उसे श्याम कहते है..!! जय…
Continue Reading
श्याम शायरी

माटी का शरीर तेरा… एक दिन माटी में ही मिल जायेगा, ले शरण बाबा “श्याम” की….. तेरा जीवन सफ़ल हो जायेगा.

कान्हा ... जिनमें हो सिर्फ तेरी बातें मैंने उन अल्फाज से मोहब्बत की है!! तुझसे मिलना तो बस एक ख्वाब सा लगता है प्यारे!! इसलिए मैने तेरे इंतजार से मोहब्बत…
Continue Reading
श्याम शायरी

हारे का सहारा है ये, इससे ज्यादा कोई राज नहीं मेरे सिर पर हाथ है इसका, इससे महँगा कोई ताज नहीं

फना कर दो अपनी सारी जिन्दगी मेरे कान्हा के कदमों में ., दुनिया मे यही एक हसती है जिसमें बेवफाई नहीं होती कोई कहता है मुहूर्त देख कर निकला करो.,…
Continue Reading